Menu

ऊदबिलाव बनने के गुण – How to be an Otter Hindi

Author: Nisarg Prakash, Illustrator: Rohit Kelkar

 

Text and Images from ऊदबिलाव बनने के गुण

अपनी रोएदँार खाल का यान रखो। यह पानी को अ-दर नह. जानेदेता जससेठंडेपानी मतैरतेसमय भी तुह गमा1हट महसूस होती ह।

मछ3लय के बारेमजानना ज़री है। धीरे-धीरेतुहमछ3लय क गंध और बदबूदार मछ3लयाँभी अ छ: लगनेलगगी। तुहपानी मछोट: मछलयाँऔर बड़ी मछ3लयाँ;मलगी। ऐसी मछ3लयाँभी तुम देखोगेजो साँप क तरह लगती ह। यहाँ तक क कुछ ऐसी भी हगी जनक ब”ली क तरह मूँछेहोती ह। सभी मछलय को पकड़ना आसान नह. है! पर याद रखो, कभी भी मरी ई मछली को मत खाना।

<end of sample>

Read the full version by selecting one of the buttons below the post.

ऊदबिलाव बनने के गुण English Version below:

Read this book in English here.

 

See more Hindi stories below

 

 
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

....