Menu

हमें तो कोई दिक्कत नहीं है! – At Least I’m Okay Hindi

Alison Byrnes

 

Text and Images from हमें तो कोई दिक्कत नहीं है!

सब जीव$ को अपना देश साकूलड यारा लगता था।
वहाँखरगोश और हरन के लए घास थी, चड़य$ और भालु के नातेके लए कड़े-मकोड़ेथ, और मगरम:छ और जँगली बलय$ के लए
मछलयाँथ। और सभी के पीनेके लए साफ, ठडा पानी भी था।

उना बाक जीव$ सेकाफ़ ऊपर, एक पहाड़ क चोट पर रहती थी। पथरीली पहाड़ी पगडं3डय$ पर ऊपर चढ़ना-उतरना काफ़ क’ठन काम था और इसम समय भी बHत लगता था। उना बाक जानवर केसाथ कम ही समय बताती थी और उसे अकेलेरहनेक आदत पड़ गई थी। बक उसेअकेलेरहना ही अ:छा लगता था – अकेलेरहतेHए वह जो चाह, जब चाहे, कर सकती थी। कभी-कभी उना को लगता था क बाक जानवर ज़रा बेवकूफ से ह। “उन सब को सब कुछ साथ मही य करना होता ह? या वह अकेलेधारा तक पानी पीनेभी नह जा सकते? मतो जाती,” उना सोचती। सभी जीव$ के काम करनेके अपनेही मनपसQद तरीके थ। लेकन उना को लगता था क मेरा ही तरीका सबसेअ:छा है।

<end of sample>

Read the full book by selecting one of the buttons below the post.

हमें तो कोई दिक्कत नहीं है! English version below:

Read the English version using the above link.

 

 

See more Hindi stories below

 

 
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

....