Menu

घूम-घूम घड़ियाल का अनोखा सफ़र – Ghum-Ghum Gharial’s Glorious Adventure Hindi

Author: Aparna Kapur, Illustrator: Rosh

 

 

Text and Images from घूम-घूम घड़ियाल का अनोखा सफ़र

 

घूम-घूम ने छलाँग लगाई तो पहले उसक नाक पानी से टकराई! और… वूश!! वह हर तरफ़ सेनद के पानी से$घर गई। घूम-घूम नेइधर-उधर पैर चलाए और पूँछ हलाई। “देखो पापा! मतैर रही ! देखो!!”

“पापा?” घूम-घूम नेआगेदेखा और पीछेदेखा। दाएँदेखा-बाएँदेखा। “पापा?”
उसनेख़ुद को अकेला पाया। प”रवार के सरेसदय उसेछोड़ कर आगे नकल गए थे।

<end of sample>

Read the full book by selecting the buttons below the post.

घूम-घूम घड़ियाल का अनोखा सफ़र English version below:

Read this book in English here.

 

See more Hindi stories below

 

 
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

....