Menu

मिशन साइकिल – Mission Cycle Hindi Story

Author: Rohini Mohan, Illustrator: Jayesh Sivan

 

 

Sample from मिशन साइकिल – Mission Cycle Hindi

या सुबह हो गयी? अमी और अबूनेमुझेउठाया य नह? या वो भूल गए क मुझे!कूल जाना है? कह वो मुझेही तो नह भूल गए? कहाँहसब लोग?

सभी इतनेसंजीदा य नज़र आ रहेह? अमी, अब,ूदा, नानी, सब! “नूरैन, तुम अपनेआप उठ गई?”
अमी ने कहा। मअमी के करीब चली गई। “अमी, आज या इतवार है?” मनेपुछा। मेरी अमी !कूल मटचर ह। वो बच को व:न पढ़ाती हऔर हम यादातर साथ म चलकर !कूल जातेह&। “नह, नूरी आज !कूल क छु? कर द गईहै,” उहनेकहा। “ओह!” मनेनराश होने का नाटक करतेए कहा। पर असल मतो मेरेमन मल फूट रहेथे। “मुझेलगता है क अब मुझेवसीम के घर जाना चाहए खेलनेके लए।”

वसीम और मदोन ही -सरी जमात मपढ़तेह, पर हमारी कIाएँअलग-अलग ह। हम बचपन सेही एक -सरेके पड़ोसी ह।  हमनेबत सारी छु?याँएक साथ गुज़ारी ह। खेलतेए, सेब के पेड़ सेलटकतेए, और गुलाब क यारय सेNचलातेए। हम तब तक खेलतेथेजब तक हमारेघरवालेहम पर Nचला ना पड़और एक कमाल क बात बताऊँ, हमनेसाथ मचौदह खेल का आवRकार भी कया है!

वह मेरा सबसेअछा दो!त और तTंद ह।ै

अबूनेमुझे-ध और उसमडुबोकर खाने के लए चोच वोर का एक टुकड़ा दया। ये कमीरी रोट वसीम के परवार क बेकरी
सेआई है। और इसमख़सख़ास का लज़ीज़ !वाद है। मुझेयेबत पसंद है।

“नूरी, वसीम के यहाँजानेका कोई फायदा नह।” अबूनेकहा। “वो अपनी अमी के साथ थोड़ेLदन के लए जमूगया है।”

<End of sample text>

मिशन साइकिल English Version below:

Mission Cycle is a tale of learning to ride a bicycle and at the same time an experience of Curfew through a child’s eyes. Sample Text from Mission Cycle Is it morning already? Why didn’t Ammi or Abbu wake me up? Did they forget I have school? Did they forget me? “Noorain!

See more books in Hindi below

 

 
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

....