Menu

हिमानी की तरह कैसे सुलझाएँ समस्याएं? – How to Solve a Problem Like Himani Hindi

Author: Mala Kumar, Illustrators: Ruchi Shah, Students of Himalayan Public School

Text and Images from हिमानी की तरह कैसे सुलझाएँ समस्याएं?

२८ माच

गम इतनी पड़ रही हैक बुरा हाल हो रहा ह! उस पर सेआज गोलूको बत ही शरारत सूझ रही थी। वह एक ढलान पर चढ़ गई और अब नीचेआनेको तैयार ही नह* थी बु, बकरी! उसेनीचेलानेम-सीमा और ग. लूको मेरी मदद करनी पड़ी।

मुझेबफ सेढँक हमालय क चोटयाँ4दखाई देरही ह-नंदाकोट, मै;ोली, पंचाचूली, चौख=बा-
सारी चोटयाँ। पर क

माऊँएकदम सूखा है। ग.लूऔर मसड़क पर लगेपंप या र बहतेझरनेसे पानी लानेम-ईजा और बौयू * क सहायता करतेह। काश! बफBली चोटय सेपानी सीधेहम तक पँच पाता। जनवरी म-जब बफ पड़ती है, तब भी पीनेका पानी बत मुFकल सेHमल पाता है। *ईजा और बौयू: कुमाऊँनी भाषा म-इन शKद का योग ‘माँ’ और ‘पता’ के लए होता है।

<end of sample>

Read the full book  by selecting one of the buttons below the post.

हिमानी की तरह कैसे सुलझाएँ समस्याएं? English version below:

School Journal from the Himalayas

Read the English version using the above link.

 

 

See more Hindi stories below

 

v

 
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

....