Menu

दिव्या ने नक्शा बनाया – Who’s on Divya’s Map Hindi Story

Author: Rohan Jahagirdar, Illustrator: Smitha Shivaswamy

Text and Images from दिव्या ने नक्शा बनाया – Who’s on Divya’s Map Hindi

 

उसका ममेरा भाई र$व उससे%मलने
गजापुर आनेवाला था। वह उससेब)त
+र, कटक शहर मरहता था।

‘हम बाहर तरह तरह के खेल खेलग, तालाब मतैरगे, आम तोड़ग,
बत मती करगे’, वह सोच रही थी।

ले$कन र$व पहली बार अकेले, सफ़र करनेजा रहा था। दा ने
र$व को फ़ोन पर सारा रा5ता समझा दया था।

“बस अ?ेसेसीधेचलना, एकदम सीधेसीधे, और $फर तु हवहाँएक तालाब दखेगा, सीधेचलतेजाना, और फर दायF तरफ मुड़ जाना, नहF हF, बांयी तरफ मुड़ना और फर चलतेजाना करीब, अम… ३ मनट तक और जब तुम डाकघर पच जाओ तो वहाँसेबायF तरफ मुड़ जाना।”

द जानती थी, $क र$व थोड़ा खोया-खोया रहता था। वह उसका घर कैसेढूँढ पायेगा, इस बात को लेकर वह परेशान थी।

<end of sample>

Read the full book by selecting one of the buttons below the post.

दिव्या ने नक्शा बनाया English Version below:

Read the book in English here.

 

See more Hindi Stories below

 

 
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

....